अल्बर्ट आइंस्टीन जो एक महान वैज्ञानिक थे उन्होंने कहा है “संसार में दो चीज़ो की कोई गिनती नहीं
है, एक ये ब्रह्माण्ड और दूसरा WinRAR का 40 दिन का free trial”|

उन्होंने WinRAR वाली बात तो नहीं कही थी पर हमे पता है की वह बात काफी सच है । आज हम चर्चा
करेंगे WinRAR पर।

अगर आप डेस्कटॉप यूजर है तोह ज़रूर आपने WinRAR कभी न कभी इस्तेमाल किया होगा । और
ज़रूर ख़रीदा भी नहीं होगा |

इंटरनेट से क्रैक डाउनलोड करलिया होगा या फिर “Free trial has expired” वाले पॉपअप को
नज़रअंदाज़ करदिया होगा । इंटरनेट पर इस बात की बड़ी चर्चा रहती है की WinRAR का 40 दिन का
free trial कभी ख़तम नहीं होता ।

इसकी पीछे एक बहुत सोची समझी रणनीति है । आईये जानते है वो क्या है ।

WinRar के trial version में सब विशेषताएं उपलब्ध है सिवाए कुछ चीज़ो के जैसे की “Add
authenticity information”, “Show protocol file” और “Delete protocol file”.

एक आम उपयोगकर्ता को यह विशेषताओं से कुछ ख़ास फर्क नहीं पड़ता । Winrar दरअसल एक
बिज़नेस मॉडल पर चलता है जिसको हम “Annoyware” कहते है ।

एक annoyware कुछ इस तरह का सॉफ्टवेयर है जो आप फ्री उसे कर सकते है पर वह आपको उसको
खरीदने के लिए तंग करता रहेगा पर कभी सॉफ्टवेयर नहीं बंद होगा । यह बिज़नेस मॉडल पर WInRAR
काम करता है ।

आप सोचते होंगे की कंपनी मुनाफा कैसे कमाती होगी अगर कोई खरीदता नहीं है तो और नाही इसका
free trial ख़तम होता है । यह बिज़नेस मॉडल बहुत लाभदायक है क्योंकि आप खुद देखिये एक
सॉफ्टवेयर देकर कहना की खरीद लीजिये या सीधा सॉफ्टवेयर के लिए भुगतान करने को कहने में किस
तरीके से सॉफ्टवेयर ज़्यादा लोग इस्तेमाल करेंगे ।

आप खुद सोचिये 100 में 0 .1 % या 10 ,000 में से 0 .1 % सॉफ्टवेयर की बिक्री में मुनाफा कहा ज़्यादा है ।

घर पर WinRAR इस्तेमाल करने वाले ज़्यादातर लोग यह सॉफ्टवेयर नहीं खरीदते है पर बड़े बिज़नेस
और ऑफिसेस में इनके लाइसेंस लेने ज़रूरी होते है तो कम्पनिया अक्सर यह सॉफ्टवेयर के लाइसेंस
भारी मात्रा में खरीद लेती है ।

कुछ इस तरह यह बिज़नेस मॉडल के तहत WinRAR दुनिया में बहुत ही मशहूर और सबसे ज़्यादा
इस्तेमाल करने वाले सॉफ्टवर्स में से एक है ।

ये रहा एक एकाएक किया हुआ मीम क्योंकि बस ऐसे ही :-

 

Categories: Hindi Blog

गुनकार सिंह

मेरा नाम गुनकार सिंह है और मैं BCA 3rd year का छात्र हूँ । मैं डिजिटल मार्केटिंग की दुनिया से वाकिफ हूँ और तरह तरह की तकनीके जैसे SEO , SMO , सोशल मीडिया मार्केटिंग भी जानता हूँ । मेरा यह ब्लॉग शुरू करने का मकसद यह है की ज़्यादा से ज़्यादा लोगो तक अपने विचार और अपनी बातो को पहुंचा सकूँ । E-Mail - gunkaar.singh17@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *